संदेश

अगस्त 5, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Pin Post

सालों बाद उसकी कॉल आई मेरे पास-Saalo bad uski call aayi mere pass , very sad love story in hindi

चित्र
हेलो दोस्तों मैं हूं आपका दोस्त आर्यन , मैं एक राइटर हूं और मैं कहानियां सुनाता हूँ , मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है और आज मैं सुनाने जा रहा हूँ “सालों बाद उसकी कॉल आई मेरे पास .....” एक ऐसी लव स्टोरी जो आपकी मोहब्बत कि यादों को ताजा कर दी कि अगर आपने भी सच अगर सच्चा प्यार किया होगा तो किसी से तो ये लव स्टोरी  आपके दिल और दिमाग को रुला देगी , औऱ बोलेगी , ये मोहबत इतना कमबख्त क्यूँ होता हैं ... ये 2022 कि मेरी पहली लव स्टोरी हैं , आप सभी विवेर्स  को HAPPY NEW YEAR   🙏😍  आर्यन के तरफ़ से अगर ये लव स्टोरी पसंद आए तो अपना बहुमूल्य कमेंट देकर जरूर बताना , हमें मोटिवेशन मिलेगा , लिखिका के लिए .... तो चलिए शुरू करते हैं इस क्यूट सी सैड स्टोरी को 😔😣😓 सालों बाद उसकी कॉल आई मेरे पास .....” यही रात के करीब 1:30 बज रहे थे मैं जगा हुआ था। इंस्टाग्राम पर फीड्स स्क्रॉल कर रहा था memes देख रहा था अचानक एक अननोन नंबर से कॉल आई..... मुझे समझ में नहीं आया कि इतनी रात को आखिर कौन हो सकता है मैंने सोचा इग्नोर कर देता हूं अगर कोई इंपॉर्टेंट कॉल होगी तो दोबारा आ जाएगी। I ignore it , लेकिन वो ऑफ फिर आई मै

प्रेम ना जाने कोई उमर जाति और धर्म-Love does not know any age, caste and religion

चित्र
Two beautiful together image प्रेम ना जाने कोई उमर जाति और धर्म -Love does not know any age, caste and religion प्रिय दोस्त अक्सर सुना है की "प्यार हो जाता है किया नहीं जाता" और इसके साथ - साथ ये भी कहा जाता है कि प्यार किसी जाति, धर्म या उम्र को नहीं मानता है। प्यार किसी भी उम्र में किसी भी जाति या किसी भी धर्म के इन्सान को किसी अन्य जाति या किसी भी अन्य धर्म के इन्सान से हो सकता है। आगे जाने से पहले हमें यह जान लेना चाहिए की जाति क्या है? और धर्म क्या है? जो हिन्दू के घर में पैदा हो गया वह हिन्दू कहलाएगा और जिसने मुस्लिम के घर में जन्म वह मुस्लिम कहलाएगा। बिलकुल यहीं बात जाति के अंतर में देखी जाती है जो पंडित के घर में पैदा होगा वह पंडित और जो भंगी के घर में पैदा होगा वह भंगी कहलाएगा। लेकिन आप उन दोनों बच्चो को ध्यान से देखो क्या आपको कोई ऐसा निशान या कोई फर्क दिखाई देता है जो उनकी जाति या धर्म तय करता हो। क्या भगवान उनमे कोई अंतर करता है? जी नहीं। प्रिय दोस्त यदि समाज की नजरो से छिपाकर एक हिन्दू नवजातक को मुसलमान के यहाँ रख दिया जाए और मुसलमान बच्चे को हिन्दू के यहाँ रख दि