संदेश

फ़रवरी 6, 2022 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आज कि मुलाकात ख़ास हैं-Aaj ki mulakaat khas hain love story in hindi

चित्र
हेलो दोस्तों मैं हूं आपका दोस्त आर्यन , मैं एक राइटर हूं और मैं सच्ची घटना पे आधरित कहानियां लिखता हूँ , मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है और आज मैं सुनाने जा रहा हूँ , अपने दिल के सबसे  क़रीब अपने जान ( रानी ) कि प्रेम कहानी, इस कहानी के हर शब्द में ज़िक्र होगा , जिसे मैंने अपने दिल में बसा रखा हूँ। तो शुरू करते हैं इस क्यूट सी प्रेम कहानी को...... आज सालों बाद उनकी एक झलक पाने कि दिल में तमन्ना हैं उन्हें देखें अरसो होगा उनसे मिलने को दिल बेक़रार हैं , उन्हें एक झलक देख लू दिल को सुकून आ जाइए....... आज ओ घड़ी आ गया हैं, जिनसे मिलकर अपने दिल कि हर के बात उनको बताऊंगा। दिल मैं जितने राज़ हैं, हर के राज़ उन्हें बताऊंगा, न जाने वो इतने दिनों बाद जब हम उनसे मिलेंगे तो हमें गले से लगेंगे या फ़िर हमें गले लाकर रो देँगे ....... मैं ये सब सोच सोच कर मन ही मन खुश होते जा रहा हूँ, उनके बारे में सोच कर मेरे दिल जोरों से धड़क रहा हैं, उनसे मिलने कि खुशी इतनी हैं कि जैसे बारिश आने से किसान खुश होता हैं। आज शाम कि ट्रैन हैं औऱ सफ़र लम्बी हैं , उनसे मिलने कि तमन्ना दिल में बढ़ती ही जा रही हैं...जैसे जैसे ये सफ़र

जान से ज्यादा चाहता हूं , मेरी उदास प्रेम कहानी-Jaan se bhi jada chahta hun , very sad love story in hindi

चित्र
हेलो दोस्तों मैं हूं आपका दोस्त आर्यन , मैं एक राइटर हूं और मैं कहानियां लिखता हूँ , मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है और आज मैं सुनाने जा रहा हूँ। जान से ज्यादा चाहता हूं , मेरी उदास प्रेम कहानी-Jaan se bhi jada chahta hun , very sad love story in hindi  आपने कितनी सारी लव स्टोरी सुनी होगी और पढ़ा होगा आपने लेकिन में जो लव स्टोरी सुनाने जा रहा हूँ वो औरो से बेहद खास और दिलचस्प हैं 💔😔 ये स्टोरी आपका दिल जीत लेगी। आज में आपको अपनी सच्ची कहानी सुनाने जा रहा हूँ , मैं राँची शेहर में रहता हूँ , ये बात तब कि हैं जब में क्लास 8th में पढ़ता था। मेरे घर के सामने ही एक लड़की रहती थी , उसका नाम रानी था । वो किसी दूसरे स्कूल में पढ़ती थीं। सबसे ज्यादा बार पढ़ा जाने वाला लव स्टोरी-सालो बाद उसकी कॉल आई  -READ  जब हम सुबह स्कूल जाते थे तो वो भी उसी वक़्त स्कूल के लिए निकलती थी , और मुझे देख कर स्माइल करती थीं , उस वक़्त मुझे इन सब चीज़ों में इंट्रेस्ट नही था , क्योंकि मैं पढ़ाकू बच्चा था और मुझे पढ़ना ज्यादा पसंद हैं , एक साल गुज़र जाने के बाद मैंने दूसरे स्कूल में एडमिशन ले लिया क्लास 9th में , और तीन बाद वो लड़