संदेश

अक्तूबर 24, 2021 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आज कि मुलाकात ख़ास हैं-Aaj ki mulakaat khas hain love story in hindi

चित्र
हेलो दोस्तों मैं हूं आपका दोस्त आर्यन , मैं एक राइटर हूं और मैं सच्ची घटना पे आधरित कहानियां लिखता हूँ , मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है और आज मैं सुनाने जा रहा हूँ , अपने दिल के सबसे  क़रीब अपने जान ( रानी ) कि प्रेम कहानी, इस कहानी के हर शब्द में ज़िक्र होगा , जिसे मैंने अपने दिल में बसा रखा हूँ। तो शुरू करते हैं इस क्यूट सी प्रेम कहानी को...... आज सालों बाद उनकी एक झलक पाने कि दिल में तमन्ना हैं उन्हें देखें अरसो होगा उनसे मिलने को दिल बेक़रार हैं , उन्हें एक झलक देख लू दिल को सुकून आ जाइए....... आज ओ घड़ी आ गया हैं, जिनसे मिलकर अपने दिल कि हर के बात उनको बताऊंगा। दिल मैं जितने राज़ हैं, हर के राज़ उन्हें बताऊंगा, न जाने वो इतने दिनों बाद जब हम उनसे मिलेंगे तो हमें गले से लगेंगे या फ़िर हमें गले लाकर रो देँगे ....... मैं ये सब सोच सोच कर मन ही मन खुश होते जा रहा हूँ, उनके बारे में सोच कर मेरे दिल जोरों से धड़क रहा हैं, उनसे मिलने कि खुशी इतनी हैं कि जैसे बारिश आने से किसान खुश होता हैं। आज शाम कि ट्रैन हैं औऱ सफ़र लम्बी हैं , उनसे मिलने कि तमन्ना दिल में बढ़ती ही जा रही हैं...जैसे जैसे ये सफ़र

अनुज कि दिल छू जाने वाली लव स्टोरी-Very Sad Heart Touching Love Story In Hindi | Sad Love Story

चित्र
अनुज कि दिल छू जाने वाली लव स्टोरी-Very Sad Heart Touching Love Story In Hindi | Sad Love Story मेरा नाम अनुज है और मुझे पहला और शायद आखिरी प्यार चौदह साल की उम्र मे ही हो गया था। में उस समय दसवीं कक्षा में पढ़ता था। प्यार करने के हिसाब से उम्र शायद कम थी पर क्या करे जनाब आजकल तो इसी उम्र मे मोहब्बतें हो जाया करती है। तो मॉडर्न जमाने के आधार पर मुझे भी हो गई थी। मुझे मेरा पहला प्यार मेरी ही कक्षा मे पढ़ने वाली अनाया नाम की लड़की में नजर आता था। जितना खूबसूरत उसका नाम था उससे कही ज्यादा खूबसूरत वो खुद थी। उसकी उम्र भी लगभग 14 या 15 वर्ष रही होगी। अनाया बड़े घर की लड़की थी। उसके पापा सरकारी डॉक्टर थे। इस हिसाब से वो पैसे वाले लोग थे। में मन ही मन उसको दिल दे बैठा था पर हमेशा कहने से डरता था। मेरे पिता एक किसान थे। हमारे घर के हालात सामान्य ही थे। इसलिए शायद इस फर्क की वजह से भी कभी हिम्मत नहीं जुटा पाया। 23:09 पर जी भी हो इन सब के चलते मेरी एक आदत में काफी सुधार आ गया था। पहले मे स्कूल न जाने के लिए तरह तरह के बहाने बनाता था। लेकिन उन दिनो सही वक्त पर तैयार होकर चुपचाप स्कूल चला ज

रुला देने वाली विजय कि दर्द भरी प्रेम कहानी | Real Life Love Story In Hindi

चित्र
रुला देने वाली विजय कि दर्द भरी प्रेम कहानी | Real Life Love Story In Hindi  मै हूं विजय जब मै 5वां में था तब मुस्कान को देखते ही ना जाने क्या हो जाता था मुझे जब मुझे प्यार का मतलाब भी पता नहीं था तब उससे प्यार हुआ प्यार में gf को कितना भी देखो मन नहीं भारत और मुस्कान थी ही ऐसी प्यार सा चेहरा हमेसा मुस्काना हम साथ खेलते हैं साथ पढ़ते हैं साथ खाते साथ बैठे कर हंसते हं।  तब तक जब तक मुझे अकल नहीं थी और वैसे भी जब माई 15 दिन के लिए नानी के येन्हा गया तो जब आया वो बदली थी और मैं भी कुछ गलत लार्को के संगत में बिगड़ चूका था। तब हैम अट्रैक्शन अफेक्शन और लव जान चुके द बाद में कुछ महिने तक दोस्ती चली जब मैंने (i love u) लेटर उसके खिरकी में फेंक आया तो उसके परिवार ने मेरी सिकायत टीचर से कर दी मैंने  टीचर से सॉरी बोला और कान पकड़ड़ने का ऊतक बैठक किया मुझे बहुत बुरा लगा उसने एक बार भी नहीं कहा की मै भी विजय से प्यार करती हूं।  मैंने सोच लिया जब तक वो सॉरी नहीं बोलेगी मये उस बात नहीं करुंगा अचानक उसे नानी के घर कलकत्ता जाना हुआ और वो  चली गई। उसी बिच स्कूल से घुमने जाने के लिए ऑफर आया माई। गया ओ कलकत