संदेश

फ़रवरी 13, 2022 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

आज कि मुलाकात ख़ास हैं-Aaj ki mulakaat khas hain love story in hindi

चित्र
हेलो दोस्तों मैं हूं आपका दोस्त आर्यन , मैं एक राइटर हूं और मैं सच्ची घटना पे आधरित कहानियां लिखता हूँ , मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है और आज मैं सुनाने जा रहा हूँ , अपने दिल के सबसे  क़रीब अपने जान ( रानी ) कि प्रेम कहानी, इस कहानी के हर शब्द में ज़िक्र होगा , जिसे मैंने अपने दिल में बसा रखा हूँ। तो शुरू करते हैं इस क्यूट सी प्रेम कहानी को...... आज सालों बाद उनकी एक झलक पाने कि दिल में तमन्ना हैं उन्हें देखें अरसो होगा उनसे मिलने को दिल बेक़रार हैं , उन्हें एक झलक देख लू दिल को सुकून आ जाइए....... आज ओ घड़ी आ गया हैं, जिनसे मिलकर अपने दिल कि हर के बात उनको बताऊंगा। दिल मैं जितने राज़ हैं, हर के राज़ उन्हें बताऊंगा, न जाने वो इतने दिनों बाद जब हम उनसे मिलेंगे तो हमें गले से लगेंगे या फ़िर हमें गले लाकर रो देँगे ....... मैं ये सब सोच सोच कर मन ही मन खुश होते जा रहा हूँ, उनके बारे में सोच कर मेरे दिल जोरों से धड़क रहा हैं, उनसे मिलने कि खुशी इतनी हैं कि जैसे बारिश आने से किसान खुश होता हैं। आज शाम कि ट्रैन हैं औऱ सफ़र लम्बी हैं , उनसे मिलने कि तमन्ना दिल में बढ़ती ही जा रही हैं...जैसे जैसे ये सफ़र

एक पिता ने अपने बेटे को उसके बर्थडे पे गिफ़्ट किया अपना दिल-Ek pita ne apne bete ko uske birthday pe gift kiya apna dil

चित्र
 हेलो दोस्तों मैं हूं आपका दोस्त आर्यन , मैं एक राइटर हूं और मैं कहानियां लिखता हूँ , मेरे ब्लॉग में आपका स्वागत है और आज मैं सुनाने जा रहा हूँ “ कि कैसे एक पिता ने अपने बेटे को उसके बर्थडे पे गिफ़्ट किया अपना दिल 💔 .....इस कहानी को सुनकर आपके होश उड़ जायेगे , क्योंकि ये कोई कहानी नहीं हैं , बल्कि यह कहानी सच्ची घटना पे आधारित हैं ” यह एक ऐसी सच्ची स्टोरी जिसे पढ़ने के बाद आपका दिल भर आइएगा औऱ आँखे नम हो जायेगी , आपके दिल और दिमाग को रुला देगी , अपने पिता के लिए प्यार दुगना बढ़ जाइएगा... इस कहानी का शुरआत होता हैं , राँची शेहर के लालपुर चौक में रहने वाले वरुण से , जिसका दुनिया बस उसका एक बेटा ही हैं , जिसे वो बहुत प्यार करता हैं , अपने बेटे के खुशी के लिए वो कुछ भी करने को तैयार था। उसके बेटे का नाम आर्यन था। आर्यन महज़ 2 साल का था , तब उसकी माँ हमेशा दुनिया छोड़ कर चली गई , उस बच्चे के सर से उसके माँ का साया हट गया , उसे छोटे से बच्चे को क्या पता कि जिसके सहारा उसे बड़ा होना हैं , वो ख़ुद आर्यन को अकेले छोड़ कर चली गए , ऐसे ही वक़्त बिताता गया और आर्यन बड़ा होगा,औऱ समझदार भी ........। जब आर्यन